Failure Stories in Hindi पागलपन और जिद
Motivational Stories

Failure Stories in Hindi पागलपन और जिद

हर इंसान अपनी जिंदगी में कभी न कभी असफलता का सामना करता है। कुछ लोग असफलता के कारण निराश हो जाते है और हार मान लेते है। यह समय हार मानने का नहीं है। यह समय उन लोगों के बारे में जानने का है। जिन्होंने अपनी जिंदगी में बार – बार हार का सामना किया लेकिन ना तो वे निराश हुए और ना ही हार मानी। Failure Stories in Hindi पागलपन और जिद

Failure Stories in Hindi

Failure Stories in Hindi पागलपन और जिद
Failure Stories in Hindi पागलपन और जिद

सबसे पहले आप अपने आप से पूछिए की आप बड़ा बनना चाहते है या फिर बूढ़ा होना चाहते है। आप जिंदगी जीना चाहते है या फिर जितना चाहते है।

१६ साल की उम्र में एक लड़के को स्कूल से निकाल दिया गया। आर्मी वालों ने उसे नौकरी पर रखने से इंकार कर दिया क्योकि उसका कद छोटा था। उसने एक अखबार में काम करना शुरु कर दिया।

कुछ समय बाद अखबार वालों ने भी उसे वह कहकर निकाल दिया की उसे अच्छे कार्टून बनाने नहीं आते। वह इंसान कोई ओर नहीं Walt Disney थे। उनके प्रसिद्ध कार्टून मिक्की माउस को देखते हुए ही हम बड़े हुए है।

इस इंसान ने कितनी बार हार का सामना किया। मगर यह रुका नहीं। आप तब तक नहीं हारते जब तक आप प्रयास करना नहीं छोड़ते। Failure Stories in Hindi

Failure Stories in Hindi पागलपन और जिद
Failure Stories in Hindi पागलपन और जिद

Read More – Moral Story in Hindi Short

एक आदमी की जिंदगी की कहानी बड़ी मशहूर है। इस आदमी ने २१ साल की उम्र में व्यापार में असफलता प्राप्त की, २२ साल की उम्र में वह एक चुनाव में हार गया। २४ साल की उम्र में वह फिर से व्यापार में असफल हो गया।

२६ साल की उम्र में उसकी पत्नी की मृत्यु हो गयी। २७ साल की उम्र में उसका मानसिक संतुलन बिगड़ गया। ३४ साल की उम्र में वह कांग्रेस का चुनाव हार गया।

४५ साल की उम्र में वह सीनेट का चुनाव हार गया। ४७ साल की उम्र में वह उपराष्ट्रपति बनने में असफल रहा। ४९ साल की उम्र में वह फिर से सीनेट चुनाव हार गया।

आखिर में ५२ साल की उम्र में वह अमेरिका का राष्टपति चुना गया। वह आदमी अब्राहम लिंकन था।

kahani in hindi
Failure Stories in Hindi पागलपन और जिद

अगर आप सब बातों को ध्यान से समझेंगे तो आप पाएँगे की सफलता की हर कहानी के साथ महान असफलताएँ भी जुडी हुई है। आज आपको यह बात माननी होगी की सफलता तक पहुँचने का रास्ता असफलता की गलियों से ही गुजरता है। Failure Stories in Hindi

Read More – Kahani Hindi

एक बच्चा जब ५ साल का हुआ। तब उसके पिता की मृत्यु हो गयी। घर चलाने के लिए उसकी माँ ने नौकरी कर ली। उस बच्चे ने घर पर अपने भाई – बहनों का ध्यान रखना शुरु कर दिया।

धीरे – धीरे वह खाना भी बनाने गया। ६५ साल तक की उम्र तक उसने बहुत ही संघर्ष किया। इस उम्र में ज्यादातर लोग रिटायरमेंट ले लेते है और दूसरों पर निर्भर होकर अपनी जिंदगी गुजारने लगते है।

ऐसे समय में उस इंसान के दिमाग में एक आईडिया ने जन्म लिया। वह था, अपनी चिकन रैसिपी को बेचना। जिसके के लिए वह अमेरिका के बहुत से राज्यों में अलग – अलग दुकानों पर घुमा।

किसी को भी उस इंसान का आईडिया पसंद नहीं आया। वह अपनी रैसिपी के बदले बिकने वाले चिकन में कुछ प्रतिशत कमीशन की माँग कर रहा था।

ऐसा कहा जाता है की उस इंसान को लगभग १००९ बार ना सुननी पड़ी लेकिन उस इंसान ने हार नहीं मानी। वह इंसान कोई ओर नहीं कर्नल सैंडर्स थे। जिन्होंने KFC की स्थापना की।

कर्नल सैंडर्स ने यह साबित कर दिया की सफलता की कोई उम्र नहीं होती और ना ही इस बात से फर्क पड़ता की आपके पास पैसे है या नहीं। बस आपके पास इच्छाशक्ति और अच्छी प्लानिंग होनी चाहिए। Failure Stories in Hindi

hindi kahani
Failure Stories in Hindi पागलपन और जिद

Read More – What is Share Market in Hindi

आप अपने आप सोचों, अगर ये लोग जीरो से शुरुआत करके सफलता हासिल कर सकते है तो आप भी कर सकते है। निराश मत होईये। आपको अभी अपनी जिंदगी में बहुत कुछ करना है।

जिंदगी में कुछ चाहिए तो थोड़ा पागलपन जरुरी है। जब आपको लोग पागल कहना शुरु कर दे तो समझ लेना चाहिए की आप अपने लक्ष्य की ओर बढ़ रहे है।

जब भी हम कुछ अलग करते है तो लोग हमें घेर लेते है और कहते है। अरे तू पागल हो गया है। यह तेरे बसकी बात नहीं है। ये काम तुझसे नहीं होगा। इस काम को करने की तेरी औकात नहीं है।

Failure Stories in Hindi पागलपन और जिद
Failure Stories in Hindi पागलपन और जिद

ऐसे बहुत से उदाहरण है। जिन्हें लोगों ने पागल घोषित कर दिया और उन पागलों ने इतिहास लिख दिया। किसी शायर ने कहा है –

जिनमे अकेले चलने के हौसले होते है,

एक दिन उनके पीछे ही काफिले होते है। (Unknown)

Read More – What is Mutual Funds in Hindi

एक खिलाड़ी क्रिकेट खेल रहा था। अचानक उसके पास उसके पिता के गुजरने की खबर आती है। सबने यही सोचा की वह तुरंत ही घर के लिए निकलेगा।

मगर ऐसा कुछ भी नहीं हुआ। वह खिलाड़ी मैदान पर उतरा और सेंचुरी लगाई। अपनी टीम को जिताने के बाद वह घर के लिए निकला। वह खिलाड़ी विराट कोहली था।

इसे पागलपन नहीं तो क्या कहेंगे। बहुत कम लोग ही ऐसा पागलपन रखते है और ये लोग ही इतिहास लिख जाते है बाकी सब गुमनाम मिट्टी में दफन हो जाते है। Failure Stories in Hindi

एक इंसान ने अपनी कंपनी खोली। कुछ दिन काम करके उसे निकाल दिया गया। उसे हजार करोड़ रुपये मिले। अगर हमें एक साथ इतना पैसा मिलता तो हम में से बहुत से लोग गाड़ी खरीदते, बंगला खरीदते और मजे से जिंदगी जीते।

मगर उस इंसान ने ऐसा कुछ भी नहीं किया। उसने सारा का सारा पैसा अलग – अलग व्यापार में लगा दिया और अपने आप किराए पर रहने लगा।

क्या आप जानते है की यह इंसान कौन है। यह इंसान Elon Musk है। Elon Musk का सपना है की वह मंगल ग्रह पर लोगों को बसायेगा। ऐसा कौन कर सकता है।

हर बार हारने के बाद Elon Musk जीत गया सिर्फ अपने पागलपन और जिद के कारण। Failure Stories in Hindi

Read More – Bedtime Stories in Hindi

दशरथ मांझी को कौन नहीं जानता। उसकी जिद और पागलपन के आगे पहाड़ भी चकना चूर होकर बिखर गया। जब दशरथ मांझी समय पर अपनी पत्नी को हॉस्पिटल नहीं पहुँचा सके। तब उन्हें बहुत ही गुस्सा आया।

उनका गुस्सा जब जिद में बदला तो पहाड़ को रास्ता देना पड़ा। उनकी जिद इस हद तक बढ़ गयी की अकेले इंसान ने ही पहाड़ को तोड़ डाला। ये पागलपन नहीं तो क्या है।

अपने गुस्से को बाहर मत निकालिये। अपने गुस्से को जिद में बदल दीजिये और कुछ ऐसा कर जाईये। जो लोग अपने में भी नहीं सोच सकते। Failure Stories in Hindi

एक हजार बार हारने के बाद भी अगर कोई कहता है की मैं एक बार फिर कोशिश करुँगा। ऐसे इंसान को पागल नहीं तो क्या कहेंगे।

मैं बात कर रहा हूँ थॉमस एल्वा एडिसन की, जिन्होंने बल्ब का आविष्कार किया। ये उनकी जिद ही तो थी। जो एक हजार बाद नाकाम होने के बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी।

ऐसे बहुत से उदाहरण हमारे आस – पास है। जिन्होंने अपने पागलपन और जिद के कारण इतिहास लिख डाले।

Read More – Gautam Buddha Moral Story in Hindi

जिद्दी और पागल लोग हमेशा ही कुछ बड़ा सोचते है। अगर लोग नौकरी करने के बारे में सोचते है तो वे नौकरी देने के बारे में सोचते है। जिद्दी लोगों की सोच हमेशा ही आम लोगों से बड़ी होती है।

पागल और जिद्दी लोग जब कुछ ठान लेते है तो वे उसे पूरा करके ही मानते है। जब तक वह काम पूरा नहीं हो जाता। तब तक जिद्दी लोग ना तो अच्छे तरिके से खाते है और ना ही चैन से सोते है।

एक जिद्दी इंसान आपको कभी भी शांत नहीं दिखाई देगा। अगर वह  में बार – बार असफल हो रहा है तो उसकी जिद और पागलपन उसे एक बार फिर कोशिश करने पर मजबूर करेगा।

हम ऐसा भी कह सकते है की वह तब तक कोशिश करता रहेगा। जब तक की सफलता उसके सामने घुटने न ठेक दे। ऐसे लोग ही इतिहास लिखकर अपना नाम अमर कर जाते है।

अगर आप भीड़ से ऊपर आना चाहते है। तो अपने काम के प्रति अपने पागलपन और जिद्द को दिखाईये। नहीं तो आप एक भीड़ का हिस्सा बनकर ही जियेंगे और गुमनाम ही इस मिट्टी में दफन हो जायेंगे। Failure Stories in Hindi पागलपन और जिद

Note – यह सब जानकारी Internet, Newspaper, Books आदि से ली गयी है। अगर आप इसमें कुछ गलत पाते है तो आप हमें helphelp24x7@gmail.com पर email कर सकते है।

इन्हें भी पढ़ना मत भूले

Like My Facebook Pagehttps://www.facebook.com/ankurrathimotivation

Ankur Rathi
This is Ankur Rathi a professional Blogger, Youtuber, Digital Marketer & Entrepreneur. I love doing work which makes me happy, that’s why i love blogging. I also love reading and sharing my thoughts with others to help them. Live your dream today because tomorrow never come.
http://ankurrathi.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *