Kali Billi Ashubh Kyo Hai
Do You Know (क्या आपको पता है)

Kali Billi Ashubh Kyo Hai | काली बिल्ली अशुभ क्यों है

दोस्तों आपके आस – पास बहुत से लोग काली बिल्ली को अशुभ मानते होंगे। अगर आप भी उन्ही में से है तो मैं आपसे एक सवाल पूछना चाहता हूँ। आप काली बिल्ली को अशुभ क्यों मानते है। आपमें से ज्यादातर लोग कहेंगे। हमारे पूर्वज मानते थे इसलिए हम भी मानते है। क्या आपने कभी इसके पीछे का कारण जानने की कोशिश की है। Kali Billi Ashubh Kyo Hai | काली बिल्ली अशुभ क्यों है

Kali Billi Ashubh Kyo Hai | काली बिल्ली अशुभ क्यों है

Kali Billi Ashubh Kyo Hai
Kali Billi Ashubh Kyo Hai

मेरे ख्याल से नहीं। यह अंधविश्वास इसी तरह एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में फैल रहा है। मैं आपको यह बता देना चाहता हूँ। बहुत समय पहले मिस्र के लोग काली बिल्ली को पवित्र मानते थे। इतना ही नहीं वे लोग काली बिल्ली की पूजा भी किया करते थे। वे ऐसा इसलिए करते थे।

उनकी बाश्त नाम की एक देवी थी। जिसका सर बिल्ली जैसा था। इसी कारण वे बिल्ली को पवित्र भी मानते थे और उसकी पूजा भी करते थे। मिस्र में जब भी किसी बिल्ली की मृत्यु होती थी तो उसे अच्छी तरह दफनाया जाता था।

Best Success Story in Hindi | मुझे अच्छा आदमी क्यों नहीं मिलता

अगर किसी भी व्यक्ति के हाथों बिल्ली की मृत्यु हो जाती थी तो उस व्यक्ति को मृत्युदंड दिया जाता था। यही कारण था। जिसके कारण लोग काली बिल्ली से ड़रने लगे थे और दूर भी रहने लगे थे।

कुछ ऐसी भी बाते प्रचलित है की मध्यकाल में काली बिल्ली की खोपड़ी में दवाईयाँ तैयार की जाती थी। उस समय के लोगो की सोच ज्यादा उन्नत नहीं थी इसलिए लोग इसे जादू – टोने के साथ जोड़ने लगे थे और काली बिल्ली को अशुभ मानने लगे थे।

धीरे – धीरे करके यह अंधविश्वास चारों ओर फैल गया। ऐसे बहुत से अंधविश्वास है। जो हमें घेरे हुए है। इन्हे ख़त्म करने का सिर्फ एक ही तरीका है। अगर आप किसी भी चीज के पीछे का कारण नहीं जानते तो उसे आगे मत फैलाइये।

Kali Billi Ashubh Kyo Hai | काली बिल्ली अशुभ क्यों है

आपके आस – पास कौन – कौन से अंधविश्वास है। मुझे कमेंट करके जरूर बताइयेगा। Kali Billi Ashubh Kyo Hai | काली बिल्ली अशुभ क्यों है

इन्हें भी पढ़ना मत भूले

अगर आप ऐसी ही और भी  Video को Animation के साथ देखना चाहते है। आप मुझे मेरे YouTube Channel पर Subscribe कर सकते है। Thank You

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *