Motivational Stories (प्रेरक कहानियां)

पुण्य कैसे मिलता है – How to Get Virtue Motivational Story in Hindi

नमस्कार दोस्तों, मुझे उम्मीद है कि आप सभी अच्छे होंगे। दोस्तों क्या आप जानते है की आपको आपके द्वारा किये गए कर्मो का फल किस प्रकार मिलता है। क्या आप ये भी जानते है की आपके द्वारा किये गये कर्म पुण्य बने या फिर पाप। इन सब बातो को समझाने के लिए मैं आपको एक Motivational Story सुनता हूँ। पुण्य कैसे मिलता है – How to Get Virtue Motivational Story in Hindi

पुण्य कैसे मिलता है – How to Get Virtue Motivational Story in Hindi

पुण्य कैसे मिलता है – How to Get Virtue Motivational Story in Hindi

एक दिन महारानी ने मंदिर में जाकर भगवान की पूजा करने की सोची। इसलिए वे मंदिर चली गयी और उन्होंने भगवान का अभिषेक भी किया। उस दिन उन्होंने मंदिर में बहुत सारा सोना भी दान के रूप में दिया। इतना सब करने के बाद महारानी को अहंकार हो गया। उन्होंने सोचा की जितना सोना आज मैंने मंदिर में दान किया है। इतना तो कभी भी किसी ने नहीं किया होगा।

खुश रहने का रहस्य – Short Motivational Story in Hindi

इसी अहंकार के साथ महारानी अपने घर आ गयी। रात में जब महारानी सो रही थी। तब उन्हें एक सपना आया। उस सपने में भगवान ने उन्हें दर्शन दिए। भगवान ने महारानी से कहा – आज मेरे मंदिर में एक गरीब महिला आयी है। उसने अपनी जिंदगी में बहुत पुण्य किये है। तुम उसे कुछ धन देकर उसके कुछ पुण्य खरीद लो।

जब तुम मरने के बाद परलोक जाओगी। उस समय ये पुण्य तुम्हारे काम आजायेंगे। तभी महारानी की नींद टूट गयी और उन्हें बेचैनी होने लगी। उन्होंने अपने मंत्री को बुलाया और उससे कहा – सैनिकों को मंदिर भेजो और उस महिला को पकड़ के मेरे पास ले आओ। सैनिक मंदिर जाकर उस महिला को पकड़कर महारानी के पास ले आते है।

महारानी ने उस महिला से कहा – तुमने अपने जीवन में बहुत पुण्य कमाए है। तुम्हारे पास पुण्य है और मेरे पास धन है। तुम मुझे अपने कुछ पुण्य दे दो। बदले में मैं तुम्हे बहुत सारा धन दे दूँगा। ये सब सुनकर उस महिला ने महारानी से कहा – मैं तो बहुत गरीब हूँ। मेरे पास पुण्य कैसे हो सकते है। मैं तो एक वक्त के खाने के लिए भी घर घर जाकर भीख माँगती हूँ।

Moral Stories for Kids in Hindi – आज दुनिया में एक चीज की कमी है

कल मुझे भीख में बहुत सारा सत्तू मिला। मैंने सोचा की इस सत्तू से भगवान को ही भोग लगा दू। इसलिए मैं मंदिर की ओर चल दी। रास्ते में मुझे एक भिखारी मिला। वह बहुत ही दिनों से भूखा था। मैंने आधा सत्तू उसे दे दिया और बाकी बचे सत्तू से भगवान को भोग लगा दिया। हे महारानी अब आप ही मुझे बताइये की जब मैं भगवान को ठीक से भोग ही नहीं लगा पायी तो मुझे पुण्य कैसे मिल सकते है।

जब महारानी ने उस गरीब महिला की बात सुनी तो उसी वक्त महारानी का सारा अहंकार खत्म हो गया। अब महारानी समझ गयी थी की जो भी इंसान निस्वार्थ भाव से भगवान की पूजा करता है। उन्हें याद करता है। भगवान उसी से प्रसन्न होते है। और ऐसे इंसान को ही जीवन में पुण्य की प्राप्ति होती है।

Moral Stories in Hindi – हिंदी में नैतिक कहानियां

दोस्तों इस Inspirational Story से मैं आपको ये समझाना चाहता हूँ की कोई भी कर्म करते समय अगर आपके मन में स्वार्थ की भावना है तो आपको आपके कर्म का अच्छा फल नहीं मिलेगा। आपको पुण्य उन्ही कर्मो से मिलेंगे। जिनमे निस्वार्थ की भावना छिपी होगी। पुण्य कैसे मिलता है – How to Get Virtue Motivational Story in Hindi

Note – The Motivational Story and Inspirational Story shared here is not my original creation. I have read or heard it before and I am just providing a Hindi version of the same with some modifications. I just want to help the people to get more easily through difficult times. Thank You

इन्हें भी पढ़ना मत भूले

अगर आप ऐसी ही और भी  Video को Animation के साथ देखना चाहते है। आप मुझे मेरे YouTube Channel पर Subscribe कर सकते है। Thank You

दोस्तों यदि आपके पास Hindi में कोई भी Article, Motivational Stories in Hindi and Inspirational Stories in Hindi या कोई भी अच्छी जानकारी है जो किसी दूसरे के काम आ सके तो आप उस जानकारी को हमारे साथ share जरूर कीजिए। आप हमें उस जानकारी को अपने photo के साथ email कर सकते है। हमारी email id है helphelp24x7@gmail.com अगर हमे आप के द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो हम उसे आपके नाम और photo के साथ अपनी website पर publish करेंगे। Thank You

4 thoughts on “पुण्य कैसे मिलता है – How to Get Virtue Motivational Story in Hindi”

  1. Needed to create you this very little word to say thanks a lot as before for these precious solutions you’ve shown above. It is incredibly open-handed with you giving publicly exactly what a lot of people would have distributed as an electronic book to make some profit on their own, even more so considering the fact that you might have tried it if you ever desired. Those guidelines additionally served like a good way to fully grasp many people have a similar keenness really like my personal own to see more pertaining to this condition. I am certain there are several more enjoyable occasions in the future for those who take a look at your blog.

  2. I have to show thanks to the writer just for rescuing me from this particular scenario. Because of searching throughout the the net and finding suggestions which were not pleasant, I figured my entire life was gone. Existing minus the approaches to the difficulties you’ve sorted out through the post is a critical case, and the ones which could have in a wrong way affected my entire career if I hadn’t come across your blog post. The understanding and kindness in maneuvering the whole lot was tremendous. I don’t know what I would’ve done if I hadn’t discovered such a subject like this. I am able to at this point relish my future. Thank you very much for the skilled and results-oriented guide. I won’t hesitate to recommend the sites to any person who ought to have guidelines on this problem.

  3. An fascinating dialogue is value comment. I believe that it’s best to write extra on this subject, it might not be a taboo subject but generally individuals are not enough to speak on such topics. To the next. Cheers

  4. I would like to show my appreciation to you just for bailing me out of this matter. Because of scouting through the the net and finding tricks which are not productive, I assumed my entire life was over. Being alive without the presence of answers to the difficulties you’ve solved as a result of your article content is a serious case, as well as the kind that might have badly damaged my entire career if I hadn’t encountered your site. Your actual talents and kindness in playing with every item was tremendous. I am not sure what I would’ve done if I had not discovered such a stuff like this. I’m able to now look forward to my future. Thanks a lot so much for the impressive and sensible guide. I will not hesitate to recommend the website to anyone who desires guidance on this topic.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *