रोटी - Bread - Motivational and Inspirational Poem (Poetry) in Hindi
Poetry, Poems

रोटी – Bread – Motivational and Inspirational Poem (Poetry) in Hindi

रोटी – Bread – Motivational and Inspirational Poem (Poetry) in Hindi – Creative Writing

रोटी - Bread - Motivational and Inspirational Poem (Poetry) in Hindi

सब की भूख मिटाती है रोटी, सब के मन को भाँती है रोटी।

हर किसी की चाहत है रोटी, हर किसी को हँसा हँसा कर रुलाती है रोटी।

देश के भ्रष्टाचारी नेताओं की चाहत भी है रोटी, एक वैश्य की चाहत भी है रोटी।

एक देश को बेचता है तो एक देश के लिए सीने पर गोली खाता है, दोनों की चाहत भी है रोटी।

कहीं बच्चे भूख से मर रहे है तो कही एक पिल्ले के लिए बिस्तर पर आती है रोटी।

कैसे कैसे नाच नचाती है रोटी, फिर भी मन को कितनी भाँति है रोटी।

कहीं इज्जत डुबाती है रोटी तो कही लाज बचाती है रोटी, फिर भी मन को कितनी भाँति है रोटी।

कभी भूखा सुलाती है रोटी तो कभी पेट भरकर भी बच जाती है रोटी।

कैसे  कैसे दिन दिखाती है रोटी, सब को ऊँगली पर नाच नचाती है रोटी।

हर दुखों का नाश करके चेहरे पर खुशी ले आती है रोटी।

जिंदगी में कुछ करने का अहसास जगाती है रोटी।

जिंदगी की मुश्किल घड़ियों में जीना सिखाती है रोटी।

कोई खुदा के नाम पर मांगता है रोटी, तो कोई लोगो को दोखा देकर खाता है रोटी।

ना कर्म की ना धर्म की परवाह उन लोगों को बस पेट भरने के लिए चाहिए रोटी।

काट सकते है ये लोग गला किसी का खाने के लिए एक वक्त की रोटी।

कहीं तो सो जाते है भूखे बच्चे माँ की गोद में, तो कही इन दौलत मंदो को रोटी खाकर भी नींद नहीं आती।

एक किसान को फाँसी खाने के लिए मजबूर कर जाती है रोटी।

कैसे  कैसे दिन दिखाती है रोटी, फिर भी मन को कितनी भाँति है रोटी, हँसा हँसा कर रुलाती है रोटी।

संसद में 2 रुपये में भरपेट मिल जाती है रोटी, मजदुर लोग 100 रुपये में भी नहीं खा पाते एक वक्त की रोटी।

जिंदगी के इस सफर का एक खास हिस्सा है रोटी।

रोटी – Bread – Motivational and Inspirational Poem (Poetry) in Hindi

Written By – Ankur Rathi

इन्हें भी पढ़ना मत भूले

अगर आप इस Poetry – Poem  का Animation देखना चाहते है तो आप मुझे मेरे YouTube Channel पर Subscribe कर सकते है।

Ankur Rathi
This is Ankur Rathi a professional Blogger, Youtuber, Digital Marketer & Entrepreneur. I love doing work which makes me happy, that’s why i love blogging. I also love reading and sharing my thoughts with others to help them. Live your dream today because tomorrow never come.
http://ankurrathi.com/

One thought on “रोटी – Bread – Motivational and Inspirational Poem (Poetry) in Hindi”

  1. There are certainly a lot of details like that to take into consideration. That may be a great level to bring up. I provide the ideas above as common inspiration however clearly there are questions like the one you convey up where a very powerful factor shall be working in trustworthy good faith. I don?t know if greatest practices have emerged around issues like that, however I’m sure that your job is clearly identified as a good game. Both girls and boys feel the impression of just a second抯 pleasure, for the remainder of their lives.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *