Poetry - Poems (कविता)

Inspirational Poetry in Hindi – दोस्त रुक जाना नहीं।

दोस्त रुक जाना नहीं – Inspirational Poetry in Hindi

ऐ दोस्त रुक जाना नहीं, तू अपने कदम डगमगाना नहीं।

मैं जानता हूँ, तू गुजर रहा है इन मुश्किल भरी परिस्थितियों से पर तू घबराना नहीं।

ना समझ तू अकेला चल रहा है इस रास्ते पर,

यार कर उस भगवान को जिसने बनाया है तुझ जैसे इंसान को।

क्या वो तुझे छोड़ देगा अकेले चलने को।

जीत लिया संसार जिसने वो खड़ा है, उस राह पर तुझ से मिलने।

ऐ दोस्त रुक जाना नहीं, तू बिल्कुल भी घबराना नहीं।

अगर तू घबरा या तो तू मिट्टी में मिल जायेगा, तू जिन्दा ही मर जायेगा।

फिर जब मिलेगा तू उस भगवान से, वो तुझ से पूछेगा जबान से।

क्यों लड़खड़ाए थे तेरे कदम, जब मैं खड़ा था तेरे लिए उस रास्ते पर आराम से।

तब तेरे पास ना होगा कोई जवाब, तब तू पछतायेगा लेके आँखों में आँसूओ का सैलाब।

ऐ दोस्त रुक जाना नहीं, तू बिल्कुल भी घबराना नहीं।

बस याद रख तुझे कदम से कदम मिलाना है और उस रास्ते पर चलते जाना है।

अगर राह में आये कोई मुश्किलें तो फिर भी चलते जाना है।

क्योंकि ये तुझे रास्ते से भटकाने का उन शैतान दरिंदों का बस एक बहाना है।

बस तुझे भगवान को याद कर कदम से कदम मिला कर चलते जाना है।

ऐ दोस्त रुक जाना नहीं, तू बिल्कुल भी घबराना नहीं।

Written By – Ankur Rathi

इन्हें भी पढ़ना मत भूले

अगर आप इस Poetry – Poem  का Animation देखना चाहते है तो आप मुझे मेरे YouTube Channel पर Subscribe कर सकते है।

                दोस्तों यदि आपके पास Hindi में कोई भी article, motivational and inspirational story या कोई भी अच्छी जानकारी है जो किसी दूसरे के काम आ सके तो आप उस जानकारी को हमारे साथ share जरूर कीजिए। आप हमें उस जानकारी को अपने photo के साथ email कर सकते है। हमारी email id है helphelp24x7@gmail.com अगर हमे आप के द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो हम उसे आपके नाम और photo के साथ अपनी website पर publish करेंगे। Thank You
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *